Followers

Tuesday, December 20, 2011

Mai Bhi Karati Hu Kisi Se Pyar मैं भी करती हूँ किसी से प्यार

लीजिये मैं फिर आ गई हूँ एक प्यारभरी कविता के साथ 



सबसे तो कहती  की मै प्यार से डरती हूँ 
पर सच तो ये है की मै भी प्यार को तलाशती हूँ 
तलाश ये नहीं की कोई मिल जाये 
तलाश ये है की बस वो मिल जाये
सपने तो मैंने भी देखे हैं उन्हें लेकर 
बस उन सपनो को पूरा करने में साथ उनका मिल जाये
मैंने भी देखी है वो प्यारभरी खामोश जगह जहा उनसे मिलकर कुछ बाते हो जाये,
मैंने भी लिखी हैं कुछ कविताये
जो उसे सुनाने को हूँ बेताब
मैंने भी  चुन रखें हैं कुछ खास उपहार 
जो उसे देने को हूँ बेक़रार 
मैं भी करती हूँ किसी से प्यार 
बस वो मिल जाये इसी का है इंतजार
मैंने भी गुजारी है वो जागती राते जिसमे होती हैं सिर्फ उसी की यादे
मैंने भी बहाए हैं आसू उसकी याद में ,
उसे पाने की चाह में.
बहाने बनाकर बार बार गुजरना उस राह से जहा उसके दिख जाने की उम्मीद हो
मैं भी करती हूँ किसी से प्यार 
बस वो मिल जाये इसी का है इंतजार....
read it
feel it...
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...