Followers

Monday, October 7, 2013

Meri Maa मेरी माँ ....



ममतामई ....
शीतल छाँव है माँ
मेरी प्यारी माँ .....

जीवनदायी .....
पूर्णता का आभास
सुख सागर .....

थामे हाँथ माँ .....
जीवन की डोर माँ
करुणामयी .....

मिलता चैन  ....
आँचल तले माँ के
ढ़ेरों आशीष ......

दे ज्ञान मुझे .....
फूलों सा महकाती
सूर्य बनाती .....

सखी भी है तू ......
रास्ता भी बनती तू
मेरी खुशी माँ.....

हौसला है तू.....
पूजनीय है तू माँ
मेरी प्यारी माँ.....

*************************************



Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...