Followers

Thursday, December 19, 2013

Tera Roop Mera Rang तेरा रूप मेरा रंग



तू कला मै कविता
तू सोच मै शब्द 
तू कागज मै कलम .......
चलो बनाएँ एक 
ऐसी बोलती तस्वीर ,,,,,
जिसमे रूप तुम्हारा हो
और रंग मेरा ......
जिसमे जिस्म तुम्हारा हो 
और सांसे मेरी .....
जिसमे दिल तुम्हारा हो
और धड़कने मेरी ....
जिसमे आँखे तुम्हारी हो
और सपने मेरे ....
जिसमे होंठ तुम्हारे हो
और मुस्कुराहट मेरी ....
जिसमे भावना तुम्हारी हो और
अहसास मेरे .....
आओ गढ़े एक ऐसा चित्र 
जिसमे तेरा रूप और मेरा रंग
मिलकर बन जाए प्रेम तरंग .....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...